डोमेन क्या है ? || What is domain Name?

Domain

क्या मुफ्त में डोमेन नेम रजिस्टर कर सकते है ?

अगर आपके लिए आपकी वेबसाइट का डोमेन एक्सटेंशन कोई खास मायने नहीं रखता है, यो आप फ्री में डोमेन नेम ले सकते है ।
फ्री में डोमेन रजिस्टर करने के लिए आप निम्नलिखित वेबसाइटो पर जाकर मुफ्त में डोमेन रजिस्टर कर सकते है ।

www.co.cc (co.cc)
www.freedomain.co.nr (.co.nr)
www.freedomains.sriz.tk (.tk)

What is domain Name?

डोमेन रजिस्टर करने के लिए नाम कैसे खोजे ?

डोमेन नेम रजिस्टर करने वाली लगभग सभी कंपनी अपनी वेबसाइट पर एक सर्च बार रखती है । जिसका इस्तेमाल कर हम अपने पसंदीदा डोमेन को आसानी से देख सकते है अगर आपका पसंदीदा डोमेन डोमेन पहले से किसी और ने ले लिया है ।
यहाँ नीचे एक टूल दिया जा रहा है जो खास तौर पर डोमेन चेक करने के लिए बनाया गया है, की डोमेन किसी ने ख़रीदा है या नहीं ! अगर ख़रीदा है तो किसने ख़रीदा है उसका नाम ? अगर आपका पसंदीदा डोमेन नेम उपलव्ध है, तो आप उसे खरीद सकते है ।

फिर भी न मिले आपका पसंदीदा नाम तो क्या करे ?

अगर आपकी वेबसाइट के लिए डोमेन yoursite.com नहीं मिला तो आप yoursite.in का चुनाव कर सकते है ।

उपाय 1:- डोमेन का चुनाव कुछ इस तरह से रखे । .com, .in, .org, .net, .info, .co.in

उपाय 2:- अगर डोमेन फ्हिर भी नहीं मिल रहा है, तो स्पेलिंग में थोड़ा सा बदलाव कर ले । कोई अतिरिक्त अक्षर जोड़ दे । जैसे :- hindiblogtips.com या ihindiblogtips.com

उपाय 3:- उस व्यक्ति से संपर्क करे, जिसने आपका पसंदीदा नाम बुक कर रखा है । हो सकता है कि वह कुछ रुपये लेकर नाम आपको देने को राजी हो जाये ।

उपाय 4:- किसी भी वेबसाइट पर उपलव्ध डोमेन बैकआर्डर सेवा का इस्तेमाल करे- ये वेबसाइटे आपका पसंदीदा डोमेन नेम एक्सपायर होते ही इसे आपकी तरफ से बुक करवा लेती है और इसके लिये एक तय फीस लेती है ।

किसने लिया मेरा पसंदीदा डोमेन?

अगर आपका पसंदीदा डोमेन नेम किसी और ने रजिस्टर करवा लिया है तो उस व्यक्ति तक पहुचना अब नामुमकिन नहीं है । नीचे कुछ टूल दिए गए है । जिनके जरिये आप डोमेन रजिस्टर करने वाले का नाम पता, ईमेल अड्रेस, फोन नंबर, डोमेन रजिस्टर करवाने कि तारीख डोमेन एक्सपायर होंने कि तारीख आदि का पता लगा सकते है ।

कैसा रखे अपना डोमेन नेम?

डोमेन नेम जितना छोटा हो उतना ही अच्छा रहता है ।

जितना लंबा नाम होगा लोगो को उसे याद रखने में उतनी ही दिक्कते होगी ।

छोटा नाम याद तो रहता ही है और टायपिंग में कोई गडबड़ी की कोई गुंजाइश नहीं रहती । जैसे:- rockingaryan.com लबे डोमेन नेम को टाइप करना मुश्किल होगा, छोटा डोमेन नेम जैसे hindiblogtips.com आप इससे भी छोटा डोमेन नेम रख सकते है ।

मेरा पसंदीदा डोमेन नहीं मिल रहा है क्या मै डोमेन में अंको का इस्तेमाल करू ?

डोमेन नेम में अंको, हाइफन आदि के इस्तेमाल से बचे ।
ऐसे नाम याद रखना मुश्किल होता है, टाइपिंग मुश्किल होती है, और वे देखने पढ़ने में भी अटपटे लगते है ।

डोमेन के लिए डॉट कॉम बेहतर या डॉट इन

आम तौर पर वेबसाइट के लिए .com बेहतर एक्सटेंशन है,क्योकि जब कोई वेबसाइट के नाम की कल्पना करता है । तो सबसे पहले .com ही मन में आता है ।

.com ही पूरी दुनिया का मशहूर डोमेन एक्सटेंशन है । और डोमेन नेम की रिसेल बाजार में इन्ही नामो की सबसे ज्यादा कीमत भी मानी जाती है । जहाँ तक मुमकिन हो, कारोबारी लोगो को भी इसी एक्सटेंशन वाला डोमेन लेना चाहिए ।

स्कूल, कालेज संस्थानों को .edu या .org गैर सरकारी संस्थानों को .org एक्सटेशन की प्राथमिकता देनी चाहिए ।

भारतीय कंपनियों के बीच .in एक्सटेंशन .com एक्सटेंशन के बाद दूसरी सबसे बड़ी पसंद है ।
अब आपको ही चुनना है की अपनी वेबसाइट के लिए डॉट कॉम एक्सटेंशन ले या डॉट इन.

Also Read:

आपसे अनुरोध है की आप सभी दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें इस पोस्ट को और नीचे कमेंट कर के अपनी राय जरुर दें. हमे बहुत अच्छा लगता है आपको अच्छे अच्छे कमेंट्स पढकर. धन्यवाद !

5 thoughts on “डोमेन क्या है ? || What is domain Name?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *